News & Current Affairs

Aadhar Vivad Me UIDAI Ke Paas Kya Honge Vikalp

PDFPRINT

सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को सुनवाई के बाद इस मामले में विस्तृत फैसला आएगा, जिसमें कुछ जज अपनी अलग राय या असहमति भी व्यक्त कर सकते हैं। प्राइवेसी पर फैसले के बाद सुप्रीम कोर्ट की एक अन्य बेंच इस बात पर सुनवाई करेगी कि आधार को मनी बिल के तौर पर पारित किया जाना कितना सही था और क्या इसे अनिवार्य बनाया जा सकता है?

आधार ठोस हकीकत है जिससे देश में 90 फीसदी से अधिक आबादी जुड़ गई है। सुप्रीम कोर्ट क्या आधार की हकीकत को अपने फैसले से बदल सकेगा यह देखना दिलचस्प होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *